Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram


Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram

कंप्यूटर मेमोरी (Computer Memory in Hindi)

कंप्यूटर मेमोरी (Computer Memory in Hindi)

computer general knowledge

मेमोरी या जिसे हिन्दी में स्मृति कहते है का आशय किसी भी वस्तु को याद रखने से है जिस प्रकार हमें की नाम, आँकड़े आदि याद रहते हैं उसी प्रकार कंप्युटर को भी इन चीजों को याद रखने के लिए या संग्रहीत करने के लिए मेमोरी की आवश्यकता होती है इस पोस्ट में हम जानेंगे कंप्युटर मेमोरी क्या होती है What is Computer Memory in Hindi, और कंप्युटर मेमोरी कितने प्रकार की होती है Types of Computer Memory in Hindi

कंप्यूटर मेमोरी (Computer Memory in Hindi)

कंप्यूटर में डाटा और प्रोग्राम को संगृहीत करने के लिए जिस युक्ति का प्रयोग किया जाता है उसे मेमोरी कहते है
कंप्यूटर मेमोरी को दो भागो में बांटा जा सकता है प्राथमिक मेमोरी (Primary memory) और द्वितीयक मेमोरी (Secondary memory) , प्राइमरी मेमोरी को पुनः Volatile और Non Volatile मेमोरी में विभाजित किया जाता है 
कंप्यूटर मेमोरी को निम्नलिखित दिए गए चार्ट से समझा जा सकता है|

प्राथमिक या मुख्य मेमोरी (Primary or Main Memory)

प्राथमिक मेमोरी के अंतर्गत RAM और ROM आते है प्राथमिक मेमोरी को दो भागो में विभाजित किया जा सकता है 

1. Volatile Memory

Volatile Memory अस्थाई रूप से डाटा को संगृहीत करती है जैसे ही कंप्यूटर बंद होता है यह अपना डाटा खो देती है अर्थात् जिस मेमोरी  डाटा संगृहीत करने के लिए विधुत आपूर्ति (Power  Supply) की आवश्यकता होती है उसे Volatile मेमोरी कहते है|
जैसे – रैम (RAM) 

  •  रैम (RAM) – रैम (RAM) का पूरा नाम है Random Access Memory यह एक अर्धचालक (Semiconductor) आधारित मेमोरी है यह एक अस्थिर (Temporary) मेमोरी है। RAM दो प्रकार की होती है 
    1. Dynamic RAM –  इसमें डाटा कुछ ही समय के लिए संगृहीत रहता है एक निश्चित समय सीमा के बाड़ इसमें डाटा ख़त्म हो जाता है यहाँ Static RAM से सस्ता है 
    2. Static RAM –  इसमें डाटा तब तक संगृहीत रहता है जब तक कंप्यूटर बंद न हो जाये यह Dynamic RAM से तेज होती है

2. Non Volatile Memory

Non Volatile Memory कंप्यूटर में किसी डाटा को स्थाई रूप से संगृहीत करती है इसे डाटा को संगृहीत रखने के लिए विधुत आपूर्ति की जरुरत नहीं होती है 
जैसे – रोम (ROM)

  • रोम (ROM) – रोम एक स्थाई मेमोरी है हमारे द्वारा कंप्यूटर में रखे गए कोई भी फाइल रोम में ही संगृहीत रहती है ROM को मुख्यतः तीन भागो में विभाजित किया जा सकता है 
    1. PROM (Programmable Read Only Memory)
    2. EPROM (Erasable Programmable Read Only Memory)
    3. EEPROM (Electrically Erasable Programmable Read Only Memory)

द्वितीयक मेमोरी या सहायक मेमोरी (Secondary Memory or Auxiliary Memory)

द्वितीयक मेमोरी (Secondary memory) का इस्तेमाल हम अपनी आवश्यकता के अनुसार डाटा को संगृहीत करने के लिए करते है यह एक स्थाई और Non Volatile मेमोरी है 
जैसे – CD, DVD, Pen Drive, Floppy Disk, Hard Disk etc.

कंप्यूटर मेमोरी की इकाइयां (Computer Memory Units)

  • 4 Bits = 1 Nibble
  • 8 Bits = 1 Byte
  • 1 Kilobyte (KB) = 1024 Bytes
  • 1 Megabyte (MB) = 1024 Kilobyte (KB)
  • 1 Gigabyte (GB) = 1024 Megabyte (MB)
  • 1 Terabyte (TB) = 1024 Gigabyte (GB)
  • 1 Petabyte (PB) = 1024 Terabyte (TB)
  • 1 Exabyte (EB) = 1024 Petabyte (PB)
  • 1 Zettabyte (ZB) = 1024 Exabyte (EB)
  • 1 Yottabyte (YB) = 1024 Zettabyte (ZB)

Also read…

इनपुट और आउटपुट डिवाइस (Input and Output Device)

कंप्यूटर का विकास एवं पीढ़ियां (Development of Computer and Generations)

1 thought on “कंप्यूटर मेमोरी (Computer Memory in Hindi)”

Leave a Comment

close