Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram


Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram

उत्तराखंड के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थान

उत्तराखंड के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थान (Higher Education Institute in Uttarakhand)

उत्तराखंड के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थान

उत्तराखंड के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थान

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की (Indian Institute of Technology Roorkee)

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की देश एवं एशिया का सबसे पुराना इंजीनियरिंग कॉलेज है। इस संस्थान की स्थापना 1847 में हुई। 1854 में इसका नाम थॉमस कॉलेज ऑफ़ सिविल इंजीनियरिंग  तथा स्वतंत्रता के बाद 1949 में  रुड़की विश्वविद्यालय  कर दिया गया।  
रुड़की के अलावा इसका एक परिसर  सहारनपुर (पेपर तकनीकी विश्वविद्यालय) में भी है। यह भारत का पहला ऐसा संस्थान जहां भूकंप इंजीनियरिंग  के लिए अलग विभाग  है, जिसे 1960 में शुरू किया गया। यहाँ पर 1995 में शुरू किया गया जल संसाधन विकास प्रशिक्षण केंद्र भी भारत का अकेला केंद्र है। 1986 में स्थापित मॉडल शेकटेबल फैसिलिटी भी सिर्फ यही है।
इस कॉलेज को 1 जनवरी  2002 को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT)  का दर्जा प्राप्त हुआ। वर्तमान में यह देश का सातवां भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बन चुका है।

कुमाऊं विश्वविद्यालय ,नैनीताल (Kumaun University, Nainital)

कुमाऊं विश्वविद्यालय की स्थापन 1973 में की गयी ,इसके तीन परिसर  नैनीताल , अल्मोड़ा तथा भीमताल  में  है। इस में समृद्ध 35 महाविद्यालय तथा संस्थान कुमाऊं के 6 जनपदों में फैले हुए है।

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय (Hemwati Nandan Bahuguna Garhwal Central University)

गढ़वाल विश्वविद्यालय की स्थापना श्रीनगर  में 1973 में हुई थी। अप्रैल, 1989 में इसका नाम परिवर्तित कर हेमवती नंदन बहुगुणा विश्वविद्यालय  कर दिया गया था। केंद्रीय विश्वविद्यालय बनने से पहले इस विश्वविद्यालय में कुल 3  परिसर श्रीनगर   मुख्यालय का बिरला परिसर , पौड़ी  का डा. गोपाल रेड्डी परिसर  तथा टिहरी का स्वामी रामतीर्थ बादशाही थौल परिसर थे। 15 जनवरी 2009 को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनने के बाद टिहरी स्थित परिसर  को अलग कर दिया गया है।

 वन अनुसन्धान संस्थान देहरादून (एफ. आर. आई.), देहरादून (Forest Research Institute)

वन अनुसंधान संस्थान उत्तराखंड के देहरादून में स्थित है, इसकी स्थापना 1878 में ब्रिटिश इंपीरियल वन स्कूल के रूप में डाइट्रिच ब्रैंडिस द्वारा हुई थी। । 1 9 06 में, इसे ब्रिटिश शाही वन्य सेवा के तहत इंपीरियल वन रिसर्च इंस्टीट्यूट के रूप में पुनः स्थापित किया गया था।
1 99 1 में, इसे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा एक डीम्ड  विश्वविद्यालय घोषित किया गया था|

 

उत्तराखंड के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थान व उनके स्थापना वर्ष निम्नलिखित है

  • गुरुकुल कांगड़ी डीम्ड विश्विद्यालय, हरिद्वार- 1960 
  • देव संस्कृति वि.वि. , हरिद्वार – 2002 
  • जी. बी. पन्त कृषि एवं प्रौधोगिकी वि.वि. , पंतनगर – 1960
  • दून विश्वविद्यालय , देहरादून – 2005 
  • हिमगिरी नभ विश्वविद्यालय, देहरादून – 2004 
  • तकनीकी विश्वविद्यालय, देहरादून – 2005 
  • उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय, हल्द्वानी – 2005 
  • पतंजलि योग विश्वविद्यालय, हरिद्वार – 2006 
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलोजी , श्रीनगर – 2009 
  • उत्तराखंड आवासीय विश्वविद्यालय, अल्मोड़ा –  2016

Also read… उत्तराखंड की प्रमुख कल्याणकारी योजनायें

Next – उत्तराखंड के प्रमुख संस्थान

 

👉 उत्तराखंड सामान्य ज्ञान के लिए यहाँ क्लिक करें|

👉 उत्तराखंड राज्य से सम्बंधित प्रश्नों के क्विज (Quiz) के लिए यहाँ क्लिक करें |

👉 उत्तराखंड समूह ग के सभी हल प्रश्न पत्र यहाँ उपलब्ध है |

👉 हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करे |

3 thoughts on “उत्तराखंड के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थान”

  1. 1. दून विश्वविद्यालय की स्थापना – 2005
    2. एफ. आर. आई. देहरादून की स्थापना- 1878 में ( 1991 में डिम्ब/सम विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया)

    Reply

Leave a Comment

close