Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram

मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी घाटी परियोजनाएं (प्रमुख बाँध)

मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी घाटी परियोजनाएं (प्रमुख बाँध)

मध्य प्रदेश सामान्य ज्ञान

मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी घाटी परियोजनाएं (प्रमुख बाँध)

मध्य प्रदेश की प्रमुख परियोजनाएं निम्नलिखित है

चम्बल घाटी परियोजना

मध्य प्रदेश में चम्बल नदी घाटी परियोजना को तीन चरणों में बनाया गया है इसके पहले चरण में गांधी सागर बाँध , दूसरे चरण में राणा प्रताप सागर बाँध व तीसरे व अंतिम चरण में जवाहर सागर बाँध बनाया गया है

  1. गांधी सागर बाँध – यह बाँध मध्य प्रदेश के चौरासीगढ़ नामक स्थान से 8 किमी की दूरी पर स्थित है इसका निर्माण 1960 में किया गया गांधी सागर बाँध की कुल ऊंचाई 62 मीटर है व बाँध के जलाशय का क्षेत्रफल 51 वर्ग किमी. है
  2. राणा प्रताप सागर बाँध – यह बाँध चम्बल नदी पर गांधी सागर बाँध से 48 किमी. की दूरी  पर बनाया गया है इसकी कुल ऊंचाई 54 मीटर व इसके जलाशय का क्षेत्रफल 1440 वर्ग किमी.  है
  3. जवाहर सागर बाँध – यह बाँध चम्बल नदी पर राणा प्रताप बाँध से 33 किमी. आगे बनाया गया है इसकी कुल ऊंचाई 25 मीटर है 

इंदिरा सागर परियोजना

इंदिरा सागर परियोजना मध्य प्रदेश में नर्मदा नदी पर स्थित निर्माणाधीन परियोजना है इसका शिलान्यास 23 अक्टूबर 1984 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी द्वारा किया गया 

तवा परियोजना

तवा परियोजना मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में नर्मदा की सहायक नदी तवा नदी पर स्थित है इस बाँध की ऊंचाई लगभग 32 मीटर है 

बाणसागर परियोजना

बाणसागर परियोजना मध्य प्रदेश, बिहार व उत्तर प्रदेश की संयुक्त परियोजना है जो सोन नदी पर बनायीं गयी है इसके अंतर्गत 63 मीटर ऊंचा व 1627 मीटर लम्बा बाँध का निर्माण किया जा रहा है इस परियोजना की विधुत उत्पादन क्षमता लगभग 450 मेगावाट है 

माही परियोजना

माहि परियोजना मध्य प्रदेश के धार जिले में माही नदी पर बनायो गयी है इस नदी पर बनाये गए बाँध की ऊंचाई 42 मीटर व लम्बाई 3100 मीटर है 

सुक्ता परियोजना

यह परियोजना मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में सुक्ता नदी पर स्थित है

थांवर परियोजना

थांवर परियोजना मध्य प्रदेश के मंडला जिले में थांवर नदी पर स्थित है 

रानी अवन्ती बाई सागर परियोजना

रानी अवंती बाई सागर परियोजना मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में बार्गी नदी पर स्थित है इस परियोजना के अंतर्गत बनाये गए बाँध की ऊंचाई 69 मीटर व लम्बाई 4500 मीटर है 

राजघाट परियोजना

राजघाट परियोजना उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश की संयुक्त परिजोजना है जो बेतवा नदी पर बनायीं गयी है इसके अंतर्गत 44 मीटर ऊंचा व 562 मीटर लम्बे बाँध का  निर्माण किया गया है 

उर्मिल परियोजना

उर्मिल परियोजना मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश की संयुक्त परियोजना है जो उर्मिल नदी पर बनायीं जा रही है इसके अंतर्गत 18.34 मीटर ऊंचा व 4.7 किमी. लम्बे बाँध का निर्माण किया गया है 

कोलार परियोजना

कोलार परियोजना मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में नर्मदा की सहायक नदी कोलार नदी पर स्थित है 

पेंच परियोजना

पेंच परियोजना मध्य प्रदेश व महाराष्ट्र की संयुक्त परियोजना है जो  पेंच नदी पर स्थित है 

 

यह भी पढ़े..
मध्य प्रदेश के प्रमुख जलप्रपात (Waterfall of Madhya Pradesh)

Leave a Comment

close