Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram


Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram

मुंशी प्रेमचंद की कहानियाँ – Munshi Premchand ki kahaniyan

मुंशी प्रेमचंद की कहानियाँ – Munshi Premchand ki kahaniyan

Munshi Premchand ki kahaniyan

मुंशी प्रेमचंद की कहानियाँ – Munshi Premchand ki kahaniyan

मुंशी प्रेमचंद का वास्तविक नाम धनपत राय श्रीवास्तव था उनका जन्म 31 जुलाई 1880 को उत्तर प्रदेश के वाराणसी में लमही नामक स्थान में हुआ था। उनकी माता का नाम आनन्दी देवी तथा पिता का नाम मुंशी अजायबराय था जो लमही में डाकमुंशी थे। मुंशी प्रेमचंद हिन्दी और उर्दू के सर्वाधिक लोकप्रिय उपन्यासकार, कहानीकार एवं विचारक थे।

मुंशी प्रेमचंद की कहानियाँ – Munshi Premchand ki kahaniyan

मुंशी प्रेमचंद ने अपने जीवन में 300 से अधिक कहानियाँ लिखी उनकी अधिकतर कहानियोँ में निम्न व मध्यम वर्ग का चित्रण है। प्रेमचंद का पहला कहानी संग्रह सोज़े वतन(राष्ट्र का विलाप) नाम से जून 1908 में प्रकाशित हुआ। इसी संग्रह की पहली कहानी दुनिया का सबसे अनमोल रतन को आम तौर पर उनकी पहली प्रकाशित कहानी माना जाता रहा है मुंशी प्रेमचंद की प्रमुख कहानियाँ निम्नलिखित हैं। 

  1. अन्धेर
  2. मुबारक बीमारी
  3. ममता
  4. माँ
  5. माता का ह्रदय
  6. मिलाप
  7. मोटेराम जी शास्त्री
  8. र्स्वग की देवी
  9. राजहठ
  10. राष्ट्र का सेवक
  11. लैला
  12. वफ़ा का खजर
  13. वासना की कड़ियॉँ
  14. विजय
  15. विश्वास
  16. शंखनाद
  17. शूद्र
  18. शराब की दुकान
  19. शान्ति
  20. शादी की वजह
  21. शान्ति
  22. अनाथ लड़की
  23. अपनी करनी
  24. अमृत
  25. अलग्योझा
  26. आखिरी तोहफ़ा
  27. आखिरी मंजिल
  28. आत्म-संगीत
  29. आत्माराम
  30. दो बैलों की कथा
  31. आल्हा
  32. इज्जत का खून
  33. इस्तीफा
  34. ईदगाह
  35. ईश्वरीय न्याय
  36. उद्धार
  37. एक आँच की कसर
  38. एक्ट्रेस
  39. कप्तान साहब
  40. कर्मों का फल
  41. क्रिकेट मैच
  42. स्त्री और पुरूष
  43. स्वर्ग की देवी
  44. स्वांग
  45. सभ्यता का रहस्य
  46. समर यात्रा
  47. समस्या
  48. सैलानी बन्दर
  49. स्‍वामिनी
  50. सिर्फ एक आवाज
  51. सोहाग का शव
  52. सौत
  53. होली की छुट्टी
  54. नम क का दरोगा
  55. गृह-दाह
  56. सवा सेर गेहूँ नमक का दरोगा
  57. दूध का दाम
  58. मुक्तिधन
  59. कफ़न
  60. कवच
  61. कातिल
  62. कोई दुख न हो तो बकरी खरीद ला
  63. कौशल़
  64. खुदी
  65. गैरत की कटार
  66. गुल्‍ली डण्डा
  67. घमण्ड का पुतला
  68. ज्‍योति
  69. जेल
  70. जुलूस
  71. झाँकी
  72. ठाकुर का कुआँ
  73. तेंतर
  74. त्रिया-चरित्र
  75. तांगेवाले की बड़
  76. तिरसूल
  77. दण्ड
  78. दुर्गा का मन्दिर
  79. देवी
  80. देवी – एक और कहानी
  81. दूसरी शादी
  82. दिल की रानी
  83. दो सखियाँ
  84. धिक्कार
  85. धिक्कार – एक और कहानी
  86. नेउर
  87. नेकी
  88. नबी का नीति-निर्वाह
  89. नरक का मार्ग
  90. नैराश्य
  91. नैराश्य लीला
  92. नशा
  93. नसीहतों का दफ्तर
  94. नाग-पूजा
  95. नादान दोस्त
  96. निर्वासन
  97. पंच परमेश्वर
  98. पत्नी से पति
  99. पुत्र-प्रेम
  100. पैपुजी
  101. प्रतिशोध
  102. प्रेम-सूत्र
  103. पर्वत-यात्रा
  104. प्रायश्चित
  105. परीक्षा
  106. पूस की रात
  107. बैंक का दिवाला
  108. बेटोंवाली विधवा
  109. बड़े घर की बेटी
  110. बड़े बाबू
  111. बड़े भाई साहब
  112. बन्द दरवाजा
  113. बाँका जमींदार
  114. बोहनी
  115. मैकू
  116. मन्त्र
  117. मन्दिर और मस्जिद
  118. मनावन
  119. इस्तीफा
  120. ईदगाह

Also read…

राहुल सांकृत्यायन की प्रमुख रचनाये

1 thought on “मुंशी प्रेमचंद की कहानियाँ – Munshi Premchand ki kahaniyan”

Leave a Comment

close