Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram

राजस्थान का भूगोल (भौगोलिक संरचना)

राजस्थान का भूगोल (भौगोलिक संरचना)

राजस्थान सामान्य ज्ञान

राजस्थान का भूगोल (भौगोलिक संरचना)

राजस्थान भारत का एक राज्य है जिसकी राजधानी जयपुर है राजस्थान राज्य का नामकरण कर्नल जेम्स टॉड ने किया , राजस्थान राज्य भारत के उत्तर – पश्चिम में  2303” उत्तरी अक्षांश से 30012” उत्तरी अक्षांश एवं 69030” से 78017” पूर्वी देशांतर के मध्य स्थित है जिसकी कुल जनसँख्या 6,85,48,437 और कुल क्षेत्रफल 3,42,239 किमी²  है
राजस्थान की पूर्व से पश्चिम तक लम्बाई 869 किमी व उत्तर से दक्षिण तक चौड़ाई 605 किमी है 

राजस्थान राज्य की सीमा  पांच राज्यों व एक देश से लगी है इसके उत्तर में पंजाब व हरियाणा, दक्षिण में गुजरात ,  पूर्व  में उत्तर प्रदेश , दक्षिण पूर्व में मध्य प्रदेश तथा पश्चिम में पाकिस्तान है

राजस्थान का भौगोलिक विभाजन 

राजस्थान को भौगोलिक दृष्टि से चार भागो में विभाजित किया जा सकता है 

  1. पूर्वी मैदानी प्रदेश 
  2. पश्चिमी मरुस्थलीय प्रदेश (थार का मरुस्थल)
  3. मध्यवर्ती अरावली प्रदेश 
  4. दक्षिण पूर्वी पठारी प्रदेश 

पूर्वी मैदानी प्रदेश

यह प्रदेश राज्य के पूर्वी भाग में स्थित है जो राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 23.3 प्रतिशत है जिसमे सम्पूर्ण जनसँख्या का सबसे अधिक 40 प्रतिशत निवास करता है यहाँ की प्रमुख नदी बनास है|

पश्चिमी मरुस्थलीय प्रदेश (थार का मरुस्थल)

राजस्थान में अरावली पर्वत माला के पश्चिम में विशाल मरुस्थल है जिसे थार का मरुस्थल कहते है थार का मरुस्थल राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 60 प्रतिशत है जिसका कुल क्षेत्रफल 1,75,000 वर्ग किमी है 

मध्यवर्ती अरावली प्रदेश

इस क्षेत्र में राजस्थान के सिरोही, उदयपुर, चित्तौरगढ़,पाली , अजमेर आदि जिले आते है यह क्षेत्र राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 9.3 % है और राज्य की कुल जनसँख्या का 17 % भाग यहाँ निवास करता है अरावली के पर्वतीय क्षेत्र से माही, लूनी, बनास , खानी आदि नदियाँ निकलती है

दक्षिण पूर्वी पठारी प्रदेश

इस क्षेत्र के अंतर्गत राजस्थान के कोटा , बूंदी, झालावाड जिले आते है राजस्थान में इस क्षेत्र को “हाथौड़ी पठार” के नाम से भी जाना है   यह क्षेत्र राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 9.6 % है और राज्य की कुल जनसँख्या का 13 % भाग यहाँ निवास करता है

Also read – राजस्थान का इतिहास : मध्य काल (History of Rajasthan)

 

Leave a Comment

close