Get Study Material & Notification of Latest Posts on Telegram

उत्तराखंड (कुमाऊं )के प्रमुख ताल / झीलें (Lakes of Uttarakhand)

उत्तराखंड(कुमाऊं) के प्रमुख ताल / झीलें (Lakes of Uttarakhand)

कुमाऊं के प्रमुख ताल

UKSSSC उत्तराखंड वन रक्षक मॉडल पेपर

>>नैनीताल

  • नैनीताल  को स्कन्दपुराण में त्रि ऋषि सरोवर कहा गया है , नैनीताल को सरोवर नगरी तथा झीलों की नगरी भी कहा जाता है 
  • नैनीताल सात पहाडियों से घिरा है , जिसमे ‘चाइना पीक (नैना पीक), शेर का डांडा , आयरपात , देवपात , हाड़ीवादी , स्नो व्यू , आलमसरिया काँटा’  सामिल है
  • नैनीताल की खोज 1841 में सी.पी. बैरन ने की
  • नैनीताल के दक्षिण-पूर्वी भाग से बालिया नदी निकलती है
  • नैनीताल  की लम्बाई 1430 मीटर , चौड़ाई 465  मीटर तथा गहराई 16-26 मीटर है

>>भीमताल

  • भीमताल उत्तराखंड के नैनीताल जिले में स्थित, कुमाऊं का सबसे बड़ा ताल है
  • भीमताल की लम्बाई 1674 मीटर , चौड़ाई 447 मीटर तथा गहराई 26 मीटर है

>>नौकुचियाताल

  • नौकुचियाताल नैनीताल से 26 किमी व भीमताल से 5 किमी की दूरी पर नैनीताल जिले में स्थित है
  • नौकुचियाताल कुमाऊं की  सबसे गहरी झील/ताल  है
  • नौकुचियाताल  की लम्बाई 950 मीटर , चौड़ाई 680 मीटर तथा गहराई 40 मीटर है
  • नौकुचियाताल में नौ कोने है इसी लिए इसे नौकुचियाताल कहा जाता है

also read….. प्रमुख फसल और उनके रोग

>>सातताल

  • सातताल नैनीताल से 22 किमी तथा भीमताल से 4 किमी दूरी पर स्थित कुमाऊं की सबसे सुन्दर झील है
  • यहाँ पहले सात झीले थी जिसमे से कई सूख गयी है , इनमे नल दमयंती ताल , गरुड़ या पन्ना ताल , पूर्ण ताल , लक्ष्मण ताल व राम-सीता ताल प्रमुख  है
  • यहाँ नल दमयंती ताल की आकृति अश्व खुर के समान है तथा इसमें मछलियाँ नहीं पकड़ी जाती है

>>खुरपाताल

  • खुरपाताल नैनीताल से 12 किमी की दूरी पर स्थित है
  • खुरपाताल   की लम्बाई 1633 मीटर , चौड़ाई 5000 मीटर  है
  • इसका आकार जानवरों के खुर के समान है

>> झिलमिल ताल

  • झिलमिल ताल चम्पावत जिले के टनकपुर-ब्रह्मदेव से 5 किमी की दूरी पर स्थित है 

>> द्रोण सागर

  • यह ताल उधम सिंह नगर के काशीपुर से 2 किमी की दूरी पर स्थित है 
  • यहाँ गुरु द्रोण ने अपने शिष्यों को धनुर्विद्या की शिक्षा दी थी 

>>गिरीताल

  • यह ताल उधमसिंह नगर जिले में है 

>>श्यामला ताल

  • श्यामला ताल चम्पावत जिले में स्थित है 
  • यहाँ सफेद कमल के फूल मिलते है 
  • श्यामला ताल के किनारे विवेकानंद आश्रम स्थित है 
  • यहाँ झूला मेला लगता है 

>> तड़ाग ताल

  • तड़ाग ताल अल्मोड़ा  जिले के चौखुटिया से 10 किमी की दूरी पर स्थित है
  • इस ताल में पानी की निकासी के लिए पांच सुरंगे बनी है जिसमे से तीन अब बंद हो गयी है 

>>सुकुन्डा ताल 

  •  यह बागेश्वर जिले में स्थित है 

>इनके अलावा सूखा ताल, मलवाताल , सड़िया ताल तथा हरिश ताल आदि नैनीताल जिले में है .

Next – उत्तराखंड के प्रमुख जल प्रपात

Also read…

उत्तराखंड का इतिहास  पड़ने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करे |

1. प्रागैतिहासिक  काल 
2. आधएतिहासिक काल 
3. ऐतिहासिक काल ( प्राचीन कालमध्य काल , आधुनिक काल

 

Leave a Comment

close